Ads 1

Shayari of nida Fazli, Nida Fazli best shayari Quotes

 आज की पोस्ट में हम लेकर आये है हिन्दी फ़िल्म जगत के मशहूर शायर और गीतकार निदा फाजली जी के कुछ शायरी ग़ज़ल कोट्स best shayari of nida fazli के ऊपर उनही के द्वारा लिखी हुई मशहूर कुछ चुनिंदा शायरी ग़ज़ल को हम अपने ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से आप सभी लोगो के सामने लेकर आये है ।

मुक़्तदा हसन निदा फ़ाज़ली 12 अक्टूबर 1938 को ग्वालियर में जन्म हुआ था हिंदी जगत के कई  सुपर हिट फिल्म जैसे रजिया सुल्तान फ़िल्म में उन्होंने अपने गाने से आवाज दी और भी कई फिल्मो मैं निदा फाजली जी का मशहूर शायरों में अपनी एक अलग पहचान थी इसकी शायरी और ग़ज़लों को काफी पसंद किया जाता है आज भी  उम्मीद है  दोस्तो आपको भी ये शायरी पोस्ट पसंद आएगी नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दे।
Credit by Nida Fazli..

Famous Shayari of nida Fazli निदा फ़ाज़ली के शायरी ग़ज़ल


Shayari of nida Fazli hindi urdu


दुश्मन उसका भी बहुत अच्छा आदमी होगा
वो भी इस शहर में मेरी तरह तन्हा होगा ।।

Dusman uska bhi bhaut achaa aadami hoga
Wo bhi ish sehar mein meri tarh Tanha hoga..



गम अपने सारे लेकर...

"गम अपने सारे लेकर अब कही जाया नही जाए
बिखरे हुए घर के चीज़ों को अब सजाया जाए।।

हवाओ से खोफ नही अब उन चिरागों को
जिन चिरागों को हवाओ से बचाया जाए ।।

हुआ क्या इस शहर को कुछ तो नज़र आये कही
यू किया जाए आज खुद को रुलाया जाए ।।

हिम्मत नही अब खुदखुशी करने की
कुछ दिन औरो को भी सताया जाए ।।

दूर है घर से मस्जिद चलो यू करे
की किसी रोते हुए बच्चे को हसाया जाए"

"Gam Apne sare Lekar
ab kahi jaya Nahi jaye
Bikhre hue ghar ke
cheezo ko Ab sajaya jaye..

Hawao se khowf Nahi Ab un chirago ko
Jin chirago ko Hawao se bachaya jaye..

Hua kya ish sehar ko
Kuch to nazar aaye kahi
Yu kiya jaye Aaj khud ko rulaya jaye..

Himmat Nahi Ab khud khusi karne ki
Kuch din auro ko bhi sataya jaye..

Door hai ghar se masjid chalo yu kare
Ki Kise rote hue bachee ko hasaya jaye"


Nida Fazli Ghazal poems, Quotes 

Yu he kuch log khafa hai
hamshe bhi is sehar mein
Kyuki har ek se apni tbiyat Nahi milte..

यू ही कुछ लोग खफा है हमसे भी इस शहर में
क्योंकि हर एक से अपनी तबियत नही मिलती।।


Quotes of nida Fazli 2020 in hindi


Mumkin hai safar to aaja ab
sath mein chal kar dekhe
Thoda tum badal ke Dekho
Thoda ham bhi badal ke dekhe..

मुमकिन है सफर तो,आजा अब साथ मे
चलकर के देखे
थोडा तुम बदल के देखो थोड़ा हम भी
बदल के देखे ।।

Gam aur Khushi dono bahut door ke sathi hai
Phir kya rashta he rashta hai
Na phir hansna hai na he rona hai..

गम और खुशी दोनों बहुत दूर के साथी है
फिर क्या रास्ता ही रास्ता  है
ना फिर हँसना है ना ही रोना है ।।


Nida Fazli thought hindi urdu

Kuch chnad logo ke hatho mein
Lakho ke taqdeer hai
Behsak alag alag hai dharm
Lakin zanjeere ek se hai..

कुछ चंद लोंगो के हाथों में
लाखो के तक़दीर है
बेशक़ अलग अलग है धर्म लेकिन
जंजीर एक ही है।।


Latest best nida Fazli Shayari ghajal


Kabhi hamse bhi puch lo izzatdar logo
Ke izzat ka hal.
Hamne bhi ish sehar mein rahkar
Thoda naam kamaya hai..

कभी हमसे भी पूछ लो इज़्ज़तदार लोगो
के इज़्ज़त का हाल
हमने भी इस शहर मैं रहकर थोड़ा
नाम कमाया है ।।

Usko bhule hue naa Jane kitne waqt Gujar gaya
Na Jane Aaj kyu haste hue use dhamkaya hai..

उसको भूले हुए ना जाने कितने वक़्त गुजर गया
ना जाने आज क्यों हँसते हुए उसे धमकाया है ।।

Uski gali se dor hokar yu to har chahre ko
Yaad kiya jisse thodi se khataye thi aksar wo
He yaad aa gye..

उसकी गली से दूर होकर यू तो हर चहरे को
याद किया है
जिससे थोड़ी सी खताये थी अकसर वो ही
याद आ गए ।।

जिसे कहते है दुनिया वाले..

"कहते है जिसे दुनिया वाले
मिट्टी का खिलौना है
अगर मिल जाये तो मिट्टी है
और खो जाए तो सोना है।।

बादल भी बरसात में दीवाना हो जाता है
ये क्या जाने की किस राह से बचना है
और किस छत को भीगाना है ।।

वक़्त जो तेरा है वही मेरा है
हर गम पर कई पहरे है
फिर भी इसे खोना है ।।

मिज़ाज़ आवारा था फैला दिया आंगन को
आकाश की चादर है
धरती का बिछोना है " ।।

"Kahte hai jise duniya wale
Mitti ka khilona hai
Agar mil jaye to Mitti hai
Aur kho jaye to sona hai

Badal bhi barsat mein deewana ho jata hai
Ye kya Jane ki kis rah se bachna hai
Aur Kis chat ko bhigana hai.

Waqt jo tera hai wahi mera hai
Har Gam par kayi pahre hai
Phir Bhi ise khona hai.

Mijaz awara tha faila diya aangan ko
Akash ke chadar hai aur
Dharti ka bechona hai"

गुलज़ार की शायरी यहां पढ़ें  👈

Post a comment

0 Comments