Ads 1

Gulzar shayari in hindi 2 lines | गुलज़ार साहब की मशहूर शायरी


Best Gulzar shayari 2 line, Gulzar Quotes


Gulzar shayari 2 line in hindi

 

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी 
वो नफरत भी तुम्हारी थी
अपनी वफाई का इंसाफ हम किस से मांगते
वो शहर भी तुम्हारा था
और वो अदालत भी तुम्हारी थीं
By gulzar

Wo Mohabbat bhi Tumhari thi 
Wo Nafrat bhi Tumhari thi
Apni Wafai ka insaf ham Kis se mangate
Wo sehar bhi tumhara tha
Aur wo Adalat bhi Tumhari thi..



दिल पुकारेगा रोज मगर 
तुम्हे आवाज नही दूंगा
ग़ज़ल लिखूंगा हमेशा तेरे लिये
मगर नाम तेरा नही लूंगा ।।
By gulzar

Dil Pukarega roj Magar 
Tumhe Awaj Nahi dunga
Gajal likhunga hamesha tere liye
Magar naam tera Nahi lunga..



अब हर दिन कुछ इस तरह गुजरता है 
मानो जैसे कोई ऐहसान उतारता है ।।

Ab har din kuch ish tarah gujarta hai
Mano jaise koi eahsan utaarta hai..



बड़ा अगर कुछ करना है 
तो ज़माने की भीड़ से जरा
हट के चलिये 
थोडा साहस तो देगी भीड़
लेकिन पहचान छीन लेती है ।।

Bada agar kuch karna hai
To zamane ki bheed se jara
Hat ke chalye 
Thoda sahas to degi bheed 
Laikn pahchan cheen leti hai..


इस पोस्ट को भी एक बार जरूर पढ़ें

वक़्त शायरी

हमने देखे है बहुत छाले उनकी पैरो पर
शायद वो उसूलो पर चले होंगे ।।

Hamne dekhe hai bahut chaale pairo par
Shayad wo wosolo par Chale Honge..



सपने चाहे कितने भी टूट कर बिखर जाए 
बाद उसके भी सपने देखना ही हौसले का 
नाम ज़िन्दगी है ।।

Sapane chahe kitne bhi toot kar bikhar jaiye
Baad uske bhi Sapane dekhna he hosle ka
Naam zindagi hai..


Gulzar hindi shayari, 


Gulzar shayari in hindi English


मुझसे दूर जाने के बाद बदला तो कुछ खास नही
चांदनी रात भी थी और चांद भी था लेकिन नींद नही ।।

Mujhese door Jane ke baad badala 
to kuch khas nahi
Chandani raat bhi thi aur chand bhi
Tha lakin neend Nahi.. 



हमारी खामोसी को पत्थर मत समझना
असर दिल पर हुआ अपनो की बातों का।।

Hamari khamosi ko patthar mat samajhna
Asar dil par hua apane ki baato ka..



इतना भी सीख कर क्या करंगे ये ज़िन्दगी यहां
हमे कौन सी सादिया बितानी है यहां ।।

Itana bhi seekh kar kya karnge ye zindagi yaha
Hame kon se sadiya bitani hai yaha..

2 line Gulzar shayari hindi


जल रहा है सीने मैं कुछ
धुंआ धुंआ सा शायद लगता है 
शायद आंखों मैं भी कुछ चुभता है 
शायद कोई सपना सुलगता है ।।

Jal raha hai seene mai kuch 
Dhuwa Dhuwa sa shayad lagta hai 
Shayad ankho mai bhi kuch chubhta hai
Shayad koi sapana sulagta hai..



रूह को भी मिल जाए ठिकाना 
हाथ जिसका छूकर
उसी हथेली पर घर बन जाये ।।

Ruh ko bhi mil jaye thikana
Hath jiska chukar 
Ushi hatheli par ghar ban jaye..



आंखों से गिरा है पानी
तो उसे गिरने दो 
शायद कोई पुरानी तमन्ना 
पिघल रही होगी ।।
#gulzar

Aankho se gira hai pani
To ushe girne do
Shayad koi purani tamanna 
Pighal rahi hogi..

मशहूर गुलज़ार शायरी इन हिंदी


Gulzar Quotes shayari in hindi 2 line


बहुत मुस्किलो से चल रहा है 
कारोबार तेरी यादों का
कम है मुनाफा मगर 
गुजारा चल ही रहा है ।।

Bahaut muskilo se chal raha hai 
Karobar Teri yaado ka 
Kam hai munafa Magar 
Gujara chal he raha hai..



सब कुछ टूट के बिखरा बैठा हूँ मैं 
गुम हो गया कही पर एक ख्वाब रखा था ।।

Sab kuch toot ke bikhra betha hu mein
Gum ho gya kahi par ek Khwab rakha tha.



हम अपनी हिचकियो मैं वफाई ढूंढ रहे थे
कम्बखत दो घूंट पानी मे गुम हो गयी ।।

Ham Apani hichkiyo mein dhoond rahe the
Kambkhat do ghoot pani mein gum ho gye..

Post a comment

0 Comments